Skip to main content

SHAFT फिल्म की कहानी | स्टोरी इन हिंदी | Hindi Story

SHAFT EXPLAINED IN HINDI (हिन्दी में समझिए)

 
1980
मै हार्लेम शहर की सड़क पर, जॉन शाफ़्ट अपनी गर्ल फ्रेंड, माया बबनीकोस  के साथ भहस करता है तभी कुछ , बंदूकधारी गुंडे वहां आते हैं। शाफ़्ट , माया की जान बचाता है जब वो गुंडे उनपर गोली चलातें हैं। शाफ़्ट कार से बहार निकलकर, एक गुंडे पर गोली चलाता है और वो बही मर जाता है।  अब सभी गुंडे वहां से भागजाते हैं। जब शाफ़्ट , माया के पास वापस आता है तो उसे पता चलता है की उस कार के पीछे वाली सीट पर उनका बेटा जॉन जूनियर बैठा था।



 वो इस शूटआउट से ज़ख़्मी नहीं हुवा था। शाफ़्ट और माया फ़िर से अपनी ज़िन्दगी के बारें मै बहस करतें है , माया कहती है की शाफ़्ट की काम , उसे और उसकी बच्चे केलिए ख़तरनाक है। इसलिए सबकी भलाई केलिए वो केहती है उन्हें अलग होना चाहिए।  शाफ़्ट को बाद मै पता चलता है की वो गुंडे, ख़तरनाक ड्रग लार्ड पियरो गोरडिटो केरेरा  केलिए काम करते थे। 

अगले 25 साल तक शाफ़्ट , जेजे ( जान जूनियर ) की ज़िन्दगी से दूर रेहता है, लेकिन हमेशा ही उसे हर मैके पर गिफ्ट्स भेजकर अपनी मौजूदगी को दिखलाता रहता है। जे जे  के दोस्त हैं  साशा एरियस और करीम हसन । जे जे ,  MIT से डिग्री  हासिल करता हैं और FBI के लिए साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ बनजाता हैं। स्पेशल एजेंट विएती (टाइटस वेलिवर) राशद आज़म मस्जिद और इसके इमाम फारिक बहार (अमातो डी'पोलो) पर अतिरिक्त निगरानी की बारे में ऑफिसर्स को बताती है। क्योंकि वह अफगानिस्तान की लगातार यात्रा कर रहा था। वो इस केस को इस्लामोफोबिक नहीं बनाना चाहती  है इसलिए उसे  प्रदर्शिक तरीके से हैंडल करने केलिए  केहती है। जेजे भी इस मामले पर काम करना चाहता है, लेकिन विएती उसे अयोग्य ठहराती है। 

जे जे , करीम और शाशा से एक बार मै  मिलता है।  करीम, एक नेवी मरीन सोल्जर था जो नशे का व्यसनी होने के कारण से उपचार लेता रेहता था। वो जेजे को ,ब्रदर्स वॉचिंग ब्रदर्स नामक एक संस्था के बारे मै बताता है जो, व्यसनी सोल्जर की मदद करने केलिए समर्पित है। करीम तब अचानक वहां से चला जाता है और जेजे उसके पीछे जाकर देखता है की क्या हुवा। करीम केहता है की वो ठीक है और उसकी देखभाल करने केलिए उसे शुक्रियादा करता है। अगली सुबह माया , जेजे को फोन करके केहती है की करीम मर गया।  उसकी बॉडी मिली हैं। 

करीम की अंतिम संस्कार की जाती है , केवल कुछ ही ख़ास फॅमिली मेंबर्स , फ्रेंड्स और बाकी मरीन सोल्जर की मौजूदगी मैं। जेजे , करीम की क्राइम सीन की रिपोर्ट को पड़ता है।  करीम की मौत ड्रग ओवरडोज़ के कारण हुवी थी और उसका बॉडी भी , एक जाने माने ड्रग डीलर मन्नी ओरोज़को के घर के पास मिली थी। जेजे उस घर के आस पास जाता है तो उसे पता चलता है की वो माननी की एरिया है। जब वो करीम के बारें मै  पूछताछ करने लगता है तो मन्नी के गुंडे उसे पीटकर ,वहां से भाहर निकालतें हैं। जेजे हॉस्पिटल मै उठता है जहाँ साशा , एक नर्स के तोर पर काम करती थी।  वो उसे बताती है की मन्नी किसीकोभी कुछ नहीं बताएगा ना ही उसे आया पुलिस वालेंको। वो केहती है की उसे एक ऐसा आदमी को ढूंढना होगा जो मन्नी की मुँह खुलवासके। 

जेजे अपने पिता के ऑफिस जाता है और पहली बार उनसे मिलता है। हालाँकि उनकी मुलाकात सुखद नहीं होती, पर फ़िर भी जेजे केहता है उसे उनकी पिता की मदद की ज़रूरत है। शाफ़्ट देखता है की जेजे को चोट लगी है और उसे पता चलता है की वो चोट मन्नी के गुंडों के कारण हुवा है। शाफ़्ट जेजे को लेकर मन्नी की बिल्डिंग पर जाता है, उसके गुंडों को मार कर , उनकी टांगों पर गोली चलता है। शाफ़्ट मन्नी को पकड़ने जाता है। 



मन्नी को शाफ़्ट के बारे मै पता होता है इसीलिए जब उसे पताचलता है उसने शाफ़्ट के लडके को मारा है तो वो वहाँ से भागने लगता है। शाफ़्ट  एक ट्रक से उसे गिरवाता है और उसकी हाथ को तोड़कर , करीम के बारें मै पूछता हैं। मन्नी, ब्रदर्स वॉचिंग ब्रदर्स संथा का नाम लेता हैं। 




BWB की संस्था को जाने के दौरानशाफ़्ट और जेजे उनके  व्यक्तित्व पर टिप्पणी करके टकराते हैं। शाफ़्ट जेजे को  ज़रूरत से ज्यादा अधिक नरम और डरपोक कहता है तो जेजे , शाफ़्ट को आक्रामक और हिंसक आदमी केहता है। वे करीम के दोस्तों , मेजर गैरी कटवर्थसार्जेंट  कीथ विलियम्स, और स्टाफ सार्जेंटएडी डोमिंगुएज़ से मिलते हैं। वे बतातें है की करीम , रशीद के मस्जिद में भाग लेने के बाद अधिक धार्मिक हो गया था। वहीँ पर उसकी मुलाक़ात उसकी गर्ल फ्रेंड अनम से हुवी थीं। डोमिंग्यूज़ करीम का नाम सुनने पर  में असहज बर्ताव करता है, इसलिए  शाफ़्ट को सन्देह होता है। 





शाफ़्ट  बाद में जेजे को एक नाइट क्लब में ले जाता है। वह अपने बेटे को दो पार्टी गर्ल्स बेबी  और शुगर  से मिलवाता है। अब जेजे पीके टुन होता है।  शाफ़्ट अपने मुखबिर दोस्त फ्रेडी पी  से बात करने के लिए जाता है, लेकिन वे जल्द ही जेजे को दूसरे लड़के से लड़ाई करते हुए देखता  हैं। कुछ कहा सुनी के बाद वो शांत होजाता है । शाफ़्ट  उसे घर पर ले आता है और बिस्तर पर सुलाता है।





सुबह में, शाफ़्ट  और  भूखा जेजे , साशा के साथ मिलकर अनम से बात करने के लिए मस्जिद में प्रवेश करते हैं। उनका सामना फारिक से होता है, जो अनम के पिता हैं। जब वह देखता है कि जेजे एफबीआई है, तो वह उन तीनों को वहां से चले जाने  का आदेश देता है। बाद में, जेजे  मस्जिद के फंड्स की जांच करता है और देखता  कि हाल ही में खुले एक सुपरमार्केट से मस्जिद के खाते में आधा मिलियन डॉलर डालागया है । जेजे इस जानकारी को विएती को बताता है लेकिन वह जेजे को  एक गुप्त जांच में दख़ल देने केलिए , छुट्टी पर भेजती है। 




शाफ़्ट और जेजे सुपरमार्केट जाते हैं और मैनेजर, बेनी से मिलते हैं। बेनी , जेजे  की मुँह पर एक मुक्का मरती है तब शाफ़्ट अपनी गन निकलकर उसे धमकाता है। वह उन्हें बताती है कि वह सिर्फ मस्जिद का समर्थन कर रही है। हालांकि, कुछ निगरानी तस्वीरों की समीक्षा करने के बाद, शाफ़्टको एक फोटो मै बेनी और गॉर्डिटो एक साथ दिखाई देते हैं। उन दोनों को संदेह होता है कि सुपरमार्केटगॉर्डिटो की ड्रग्स ऑपरेशन के लिए एक मंच  हो सकता है, साथ ही फारिक की अफगानिस्तान यात्राओं के साथ संभावित आतंकवादी कनेक्शन भी हो सकता  हैं। जेजे ने यह भी खुलासा करता है  कि उसने बेनी पर नज़र रखने के लिए , बेनी की डेस्क में एक माइक्रो कैमरा लगाया हैं ।

उस रात , शाफ़्ट एक रेस्तरां मै खाना खाने जाता है , जहां माया, एक बेवकूफ़ जैसे दिखने वाले आदमी, जिसका नाम रान है , उसके साथ आयी है। वह  शाफ़्ट की उपस्थिति पर भड़क जाती है और सोचती  है कि शाफ़्ट उसे वापस पाने केलिए उस  जगह को आया है। कुछ देर बाद, शाफ़्ट कुछ बंदूकधारीयोंको  रेस्तरां मै  प्रवेश करते हुवे देखता है। शाफ़्ट माया को बचता है और उन गन मेन्स  पर गोली चलता है। वो भी इसपर गोली चलते हैं। वहीं  जेजे भी साशा के साथ डिनर करने के लिए एक दूसरे रेस्तरां को गया था , वहां पर भी कुछ बंदूकधारी उसे निशाना बनते हैं।



 साशा देखती है कि जेजे ने उसकी  बंदूक निकाली और बदमाशों पर फायर किया, जिससे सभी मारे गए। शाफ़्ट,  रॉन से अपनी कार की चाबी देने को केहता है ताकि वे माया के साथ रेस्तरां से बाहर निकलकर जेजे और साशा के पास जाएं। माया यह जानने के बाद गुस्सा करती है की शाफ़्ट , चुपके से जेजे से मिलरहा है। जेजे एक मृत गुंडे का फ़ोन लेकर नंबर डाइल करता है तो उसे पता चलता है की बेनी ने उन गुंडों को भेज़ा था। 



एफबीआई मस्जिद पर छापा मारती है और फारिक को गिरफ्तार करती है, प्रेस आलोचना करती है कि एफबीआई ने इस्लामोफोबिक हमला किया है । प्रेस मई बात उछलने पर विएती  जेजे फायर करती है। शाफ़्ट ,फ्रेडी से बात करता है तो वो कहता है की डोमिंग्यूज़ इस पुरे ऑपरेशन में शामिल होसकता है।  तभी जेजे वहां आता है , उसे लगता है वो दोनों उसके बारें मै ही चर्चा कर रहे हैं , उसको लगता है वो केस ख़त्म होने के बाद शाफ़्ट उसे अपनी ज़िन्दगी से निकल देगा।



इससे वो नाराज़ होकरगुस्से में अपने पिता से दूर चला जाता है। इस घटना से शाफ़्ट को अपने कामों पर  पुनर्विचार करने  का मौका मिलता है। इसलिए वह अपनी अनुपस्थिति और व्यवहार के लिए माया से माफी मांगने जाता है। 



जे जे और साशा, डोमिंग्यूज़ की जांच करने के लिए BWB  केंद्र पहुंच थे हैं। जहाँ उन्हें पता चलता है की डोमिंगुएज, बेनी की चचेरे भाई है। जेजे, कट्टीडोमिंगुएज और विलियम्स की मीटिंग को देखता है और उनकी बातचीत को अपने फोन पर रिकॉर्ड करता है। कट्टी गर्डिटो के साथ शामिल होने की बात पता चलती है और करीम , एक व्हिसलब्लोअर बन के उनकी बात को उजागर करने वाला था इसीलिए उसको मारा गया।कट्टी  देखता  है कि डोमिंग्यूज़ के  विचार भी बदल रहें  हैं, इसलिए वह उसे भी मारता है।



 जेजे शोर करता है।उसे  और साशा को बाहर पकड़ लिया जाता  है। कट्टी और विलियम्स, साशा को  बंधक बना लेते हैं। शाफ़्ट बाद में वहां पहुंचता है। वहां जेजे  और शाफ़्ट के बीच नोकझोक होती है।  शाफ़्ट उसे बताता है कि वह उसे कभी नहीं छोड़ना चाहता था, लेकिन उनके जीवन पर गोर्डिटो का ख़तरा था, इसलिए अपने परिवार को एक साथ रखना मुश्किल होगया था। और यही कारण है कि गोर्डिटो के खिलाफ उसका प्रतिशोध इतना व्यक्तिगत है।



शाफ़्ट  और जेजे , एक  व्यक्ति के घर जाते हैं जो उनकी मदद कर सकता  है।  जॉन शाफ़्ट  सीनियर (रिचर्ड राउंडट्री)। वह जेजे से पहली बार मिलकर स्तब्ध होता है , जैसा कि जेजे भी । शाफ़्ट सीनियर  अपने बेटे और पोते कोगॉर्डिटो और कट्टी से लड़ने के लिए बहुत सारे बन्दुक देता है। लेकिन इसबार वो भी  कार्रवाई में शामिल होने पर जोर देता है।



तीनों शाफ्ट्स , गोर्डिटो की इमारत पर पहुंचते हैं जहां वह कट्टी और विलियम्स , हेरोइन के एक नए शिपमेंट पर गोर्डिटो से  बात करते रेहते हैं। जेजे कैमरे को हैक करने की कोशीश करता है,लेकिन वाई-फाई की कमी से गड़बड़ होती है। तीनों गॉर्डिटो के आदमियों द्वारा देखे जाने के बाद वे लिफ्ट से बाहर निकलते हैं, और लड़ना शुरू करने हैं।  गॉर्डिटो  के सारे आदमी मारे जाते है  साथ ही साथ विल्लियम्स भी। जेजे कुट्टी को गोली मारने से पहले उसकी टांगों पर ग्लॉस से अटैक करता है।



 गॉर्डिटो अब साशा को गन पॉइंट पर रखता हैं, और बोलता है की जेजे हमेशा से ही उसका टारगेट था।  ये शाफ़्ट उसके धंदे मै  टांग अड़ाने का नतीज़ा है। शाफ़्ट जेजे के लिए चलाई गयी गोली को रोकने केलिए , जेजे के आगे कूदता है। उसे गोली लगती है। शाफ़्ट सीनियर ,गोर्डिटो पर एक चाकू फेंकता है। ड्रग लॉर्ड को तब कई बार शाफ़्ट गोली मार कर उसे खिड़की से बहार फेंकता है।  करने से पहलेदी जाती है। शाफ़्ट खून की कमी से बेहोश होता है ।

अस्पताल में शाफ़्ट , जेजे, शफ्ट सीनीयर ,और माया के साथ  उठता है।  माया शाफ़्ट को , जेजे की जान बचने केलिए माफ़ करती है। अंत में गेज साशा को किस्स करता है, जिससे उसके पिता और दादा  को गर्व होता है।



Comments

Popular posts from this blog

Invictus फिल्म की कहानी | स्टोरी इन हिंदी | Hindi Story

Invictus फिल्म की कहानी | स्टोरी इन हिंदी | Hindi Story  इन्विक्टस 2009 मे आई अमेरिकन-सौत्फरीकन बाइयोग्रॅफिकल ड्रामा फिल्म है , जो 1995 मे, साउत आफ्रिका मे हुवी रग्बी वर्ल्ड कप मॅच की कहानी कहेती है. कैसे एक स्पोर्ट देश को जोड़ सकता है, कैसे एक स्पोर्ट दुश्मनों का दुश्मनी मिटा सकता है, कैसे एक स्पोर्ट देश की डिप्लोमसी मे काम आसकता है. साउत आफ्रिका मे अपार्थाइड  यानी रंग भेद 1948 मे अफीशियली शुरू होकर 1990 मे ख़त्म हुवा. साउत आफ्रिका मे इस दौरान वाइट और ब्लैक लोगों केलिए अलग अलग क़ानून थे, काले लोगों का शोषण किया गया था. इसका एक लंबा खूनी इतिहास है. नेल्सन मंडेला ने इसके खिलाफ आंदोलन  किया था इसलिए उनको 1963 मे ज़िंदगी भर केलिए जैल मे डाल दिया गया था. 1980’s  के दशक  मे जब साउत आफ्रिका पर आर्थिक पाबंदियां  लगने लगे तब वहाँ की सरकार  आफ्रिकन नॅशनल कॉंग्रेस (ANC ) से रंग भेद  को ख़त्म कर ने केलिए बातचीत शुरू की. ओलंपिक्स  ने भी 1964 से 1988 तक साउत आफ्रिका को बैन  किया था. ICC  और अन्या काई सारी स्पोर्ट ऑर्गनाइज़ेशन्स ने भी उनको बैन किया था. उनमे से एक था इंटरनॅशनल

50 Morning Affirmations in Hindi, Positive Affirmations Hindi

हमारे कार्य  हमारे जीवन को बनाते है, उन कार्यों को नियंत्रित करता है हमारा मन. यदि मन शुध है, तो हमारा जीवन भी शुध होगा.मन के विचारों पर काई सारी चीज़े प्रभाव डालते है,जैसे की दिमाग़ का सेहत , फिज़िकल फिटनेस,खान पान और हमारी मान्यताएं. अफर्मेशन्स का संबंद इसी मान्यताएं  या विश्वास से है. अफर्मेशन्स एक छोटे से वाक़या या स्टेट्मेंट्स होते है जो आपको पॉज़िटिव थिंकिंग करने मे मदद करते है. ये कुछ ऐसे वाक़या होते है, जिसपर आपका मन पहेले विश्वास नही करता,क्यूंकी उसका अर्थ आपके मन के लॉजिक पर खरा नही उतरता.  लेकिन जैसे हम अपनी फिज़िकल बॉडी को ट्रेन कर सकते है वैसे ही अपने मन को भी ट्रेन कर सकते है. जब हम रोज़ इन वाक्यों को दोरहाने लगते है तो धीरे धीरे हमारे सूक्ष्म मन मे इनके अर्ता शामिल होने लगते है. जब भी कोई विचार आपके  सूक्ष्म मन  मे शामिल होता है तो आपका , जागरूक मन भी उसपर बेझीजक यकीन करलेता है. ये बात पॉज़िटिव और नेगेटिव दोनो विचारों केलिए अप्लाइ होता है. जब आप पॉज़िटिव विचारों का प्रॅक्टीस करते है तो रिज़ल्ट पॉज़िटिव ही होता है. बच्चे अपनी मा के हर बात को सही मानते है क्यूंकी उ

What Is Hinglish

Hinglish is a hybrid language that combines the words from English language with Hindi Language Grammar. The script of the language uses English alphabets with Hindi and English words. The name Hinglish itself is derived from Hindi and English. Its spoken in India, United Kingdom, USA. Initially it was the language of non resident Indians and ABCD's (American Born Confused Desi) but with passage of time and dominance of English as a primary language for school education, a generation of Indians now use Hinglish in their day today life. History Of Hinglish   The Charter Act of 1813 passed by the British parliament in 1813 ended the monopoly of British East India Company and made the way for formal English medium education for Indians. This act also allowed Christian Missionaries to India and propagate Christian values to Indians. British East India company also known as British Raj opposed this idea with force. British Raj advocated that Indians are sensitive to the