Uri The Surgical Strike फिल्म की कहानी | स्टोरी इन हिंदी | Hindi Story

उरी द सर्जिकल स्ट्राइक  फिल्म की कहानी | स्टोरी इन हिंदी | Hindi Story
Uri The Surgical Strike in hindi

उरी, द सर्जिकल स्ट्राइक 2019 रिलीज़ हुवी हिंदी मिलिट्री एक्शन फिल्म है जो सच्ची घटनावोँ पर आधारित है। फिल्म कई माईने में अलग फिल्म है।  बॉलीवुड दुनिया में सिर्फ भावुक फिल्मे बनानेकेलिए बदनाम है।  निजी घटनावों पर आधारित फिल्म बनाने में बॉलीवुड की इतिहास अच्छा नहीं है।  इस फिल्म में कहानी को मुख्य मुद्दा बनायागया है।  इस फिल्म को दो राष्ट्रीय पुरस्कार मिली एक बेस्ट डायरेक्टर केलिए और एक बेस्ट एक्टर केलिए। फिल्म की कहानी 5 भागों में है। 

The Seven Sisters ( साथ बहनें )
पहला अध्याय एनएससीएन (के) उग्रवादियों द्वारा मणिपुर के चंदेल ज़िले  में, भारतीय सेना के जवानों के काफिले पर , जून 2015 में घातक हमले से शुरू होता है। उन्होंने घात लगाकर हमला किया था।  अब इसकी  प्रतिशोध में, मेजर विहान सिंह शेरगिल (विक्की कौशल), एक पैरा एस एफ अधिकारी और उसके बहनोई  मेजर करण कश्यप (मोहित रैना)  के नेतृत्व में  प्यारा  स्पेशल फाॅर्स की एक टुकड़ी एनएससीएन (के)  ठिकाने पर हमला करती है।  पूर्वोत्तर के उग्रवादियों और हमले केलिए  जिम्मेदार उसके प्रमुख नेता को भी मार डालते हैं। एक सफल  अभियान  के बाद भारत के प्रधानमंत्री (रजित कपूर) उन्हें और पूरी यूनिट को भदायी  देतें है और उनके सम्मान में  एक औपचारिक रात्रिभोज भी  देते हैं।

अब विहान  अपने सीनियर अफसर से  सेवानिवृत्ति का अनुरोध करता है।  वह अपनी मां के करीब रहना चाहता था , जो अब स्टेज VI अल्जाइमर से पीड़ित थी। ये खबर अब प्रधान मंत्री तक पहुंचती है  जिस पर प्रधान मंत्री उसे सेवानिवृत्ति के बजाय अपनी मां के पास, नई दिल्ली में, आर्मी मुख्यालय में काम करने केलिए कहतें है। वो एक डेस्क जॉब था जो इस समय उसके लिए परफेक्ट था। 

An Unsettling Peace ( एक अनसुलझी शांति )

दूसरा अध्याय नई दिल्ली में शुरू होता है।  एकीकृत रक्षा  मुख्यालय में विहान को डेस्क की नौकरी दीजाती है  और वो अपने परिवार के साथ समय बिताने लगता  है। यहाँ  पठानकोट हमले का संक्षिप्त विवरण भी दिखायाजाता है। जसमीन डी'अल्मिदा (यामी गौतम) नाम की एक नर्स को विहान की मां की देखभाल करने के लिए आर्मी के तौर से भेजगाया था। 

विहान एक भारतीय वायु सेना के पायलट से मिलता है, जिसका नाम फ्लाइट लेफ्टिनेंट सीरत कौर (कीर्ति कुल्हारी) है, जो अपने शहीद पति, जो एक सैन्य अधिकारी थे उनके गम में जिरहि थी। वो उनके पति को अपनी देशभक्ति साबित करने की कोशिश कर रही थी । 

एक दिन विहान की  मां लापता हो जाती है। वह उसे खोजने लगता है, गुस्से में नेग्लिजेंस  केलिए जैस्मीन को दोषी ठहराता है। जैस्मीन को बताता है कि उसकी सुरक्षा की कोई आवश्यकता नहीं है। विहान की मां एक पुल के नीचे पाई जाती है। बाद मे जैस्मीन  जो खुद एक  RAW की खुफिया एजेंट थी , अपनी सच्चाई विहान को बताती है।  पूर्वोत्तर के आतंकवादियों के खतरे के कारण, RAW के एजेंट्स  विशेष बल के सैनिकों के परिवारों को सुरक्षा प्रदान करते है। 

Bleed India  with thousand cuts (हजार घाव  के साथ भारत का सफाया)
19 सितंबर 2016 को, भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने  में जम्मू-कश्मीर के उरी में ब्रिगेड मुख्यालय पर हमला किया, जिसमें 19 सैनिकों की मौत हो गई। विहान के बहनोई कारन भी उरी में ही तैनात था वो और उसकी टीम आंतकवादियों से लडतें है और सारे आतंकवादीयों को  मार गिराते है। लेकिन इसमें कारन शहीद होता है। विहान सहित पुरे  परिवार को शॉक लगता है। मंत्रालय अब  हमले के अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का फैसला करते हैं ।

 राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार गोविंद भारद्वाज (परेश रावल) सर्जिकल स्ट्राइक के विचार का सुझाव देते हैं। प्रधान मंत्री इसे जारी करने का अनुमति देतें है और इस  केलिए दस दिन का समय देते हैं। अब सेनाध्यक्ष जनरल अर्जुन सिंह राजावत (शिशिर शर्मा) से विहान अनुरोध करता है कि  उस ऑपरेशन केलिए उसे चुनाजाए । अब विहान भी अपनी डेस्क की नौकरी छोड़कर, उधमपुर में स्थित नॉर्दन कमांड का कमान लेता है। विहान बिहार रेजिमेंट से घातक  बल के कमांडो को , विशेष बल के  डोगरा रेजिमेंट से कमांडो को चुनता है।  हमले में मारे गए अधिकांश सैनिक इन रेजिमेंटों से थे। विहान ने उन्हें अब उनके  फोन का उपयोग करने पर पाबंदी लगाता है और नियमित  परिक्षण  जारी रखता है । कमांडो अपना प्रशिक्षण शुरू करते हैं। 

Naya Hindusthan ( नया हिन्दुस्थान )
गोविंद अब हमले की योजना  में ISRO  (उपग्रह से फोटो प्राप्त  करने के लिए), DRDO (ड्रोन सर्विलांस के लिए) और RAW (खुफिया के लिए) अधिकारियों को शामिल करता है । जब वह डीआरडीओ प्रमुख ब्रायन डिसूजा (इवान रोड्रिग्स) से मिलने जाता है, तो वहां  ईशान नाम के एक नौजवान इंटर्न  से मिलता है।  जिसने गरुड़ नामक एक ड्रोन विकसित किया था  जो दिखने में  एक ईगल के आकार का था। 

वो लोग ड्रोन और उपग्रह चित्रों की मदद से वे आतंकवादियों के ठिकाने और प्रशिक्षण शिविरों का सटीक स्थान प्राप्त करने में सक्षम होतें है । अब  जैस्मिन पल्लवी शर्मा के रूप में अपना असली नाम विहान को बताती है।  एक संधिग्द आतंकवादी से  पूछताछ के दौरान, दोनों इस बात की जानकारी निकालने में सक्षम होते है  कि हमले की योजना किसने बनाई थी। विहान अब  सीरत को अपना पायलट चुनता है, जो पूरे दिल से वो काम करने केलिए सहमत होती  है।

गोविंद अब पाकिस्तानियों के  ध्यान भटकाने केलिए सीमा पर तोपों से  गोलाबारी करवाता है और पाकिस्तानी वायु सेना पर  हमले के हेलीकाप्टरों को बॉर्डर पर भेजता है। कमांडो विहान के तहत प्रशिक्षण भी शुरू करते हैं। पाकिस्तानी अधिकारियों को भारतीय गतिविधियों पर संदेह होता  है, लेकिन इसे वो कम करके आंकते है ।

The Surgical Strike ( द सर्जिकल स्ट्राइक)
28 सितंबर की रात, Mi-17 हेलीकॉप्टरों में कमांडो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में हमला करने  के लिए निकल जाते हैं। विहान के हेलीकाप्टर को लाइन ऑफ़ कण्ट्रोल पार करने की  मिलती। RAW के ताज़ा खुपिया जानकी के मुताबिक़ पाकिस्तान ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में "AWAC" अर्ली वार्निंग रडार बेस्ड सर्फेस टू एयर मिसाइल सिस्टम तैनात किया था । जिससे हवाई हमले की जानकारी चरण उन्हें मिलती थी। इसलिए विहान और उसकी टीम हेलीकाप्टर लैंड करके ,एक गुफा से पैदल चलकर जातें है। उनकी टीम  दो लॉन्चपैड्स पर रहरहे आतंकवादियों को सफलतापूर्वक मार गिरातें है। इसी तरह, अन्य कमांडो दल भी सभी आतंकवादियों को मारतें है । विहान , इदरीस और जब्बार को मारता है, जो उरी हमले केमुख्य सूत्रदार थे । 

अब  स्थानीय पाक पुलिस सतर्क होजाता  है। विहान और बाकी  कमांडो के  पास  गोला-बारूद और समय दोनों कम थी इसलिए वो लोग वापस आने लगते है। वापस आते वक़्त उनपर मशीन गन  से हमला होता है।  एक  पाकिस्तानी वायु सेना के Mi-17 हेलीकॉप्टर उनपर गोली बरसाने लगता है। चारों ओर  गोलियों की भारी बारिश होती है।  अब फ्लाइट लेफ्टिनेंट सीरत पाकिस्तानी हेलीकाप्टर पर हमला करके उन्हें  पीछे हट ने मजबूर करती है।  विहान और उसकी टीम सफलता से लाइन ऑफ़ कण्ट्रोल क्रॉस करके हिन्दुस्थान वापस आतें है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हिंडन वायु सेना स्टेशन पर विहान की टीम आती है । फिल्म के अंत में  पल्लवी, गोविंद और विहान  ख़ुशी से प्रधान मंत्री के साथ औपचारिक डिनर  करते हैं।

फिल्म के एन्ड सीन में ज़मीर नाम का एक पाकिस्तानी मिनिस्टर भारत की हमले के खबर को सुनकर गुस्से में आग बबूला होता है। 

फिल्म के दमदार डायलाग 
  • HOW's THE JOSH ?
  • कमांडर्स, इंडियन आर्मी ने ये जंग शुरू नहीं की थी बट वी विल ब्लडी हेल फिनिश इट।
  • फर्ज और फर्जी में बस एक मात्रा का फर्क होता है।
  • ये हिंदुस्तान अब चुप नहीं बैठेगा, ये नया हिंदुस्तान है. ये घर में घुसेगा भी और मारेगा भी।
  • पाकिस्तान जो भाषा समझता है, उसी भाषा में उसको समझाने का समय अब आ गया है।



Tags : फिल्म की कहानी स्टोरी इन हिंदी Hindi Story,story in hindi,Hindi spoilers, film ki story.

Comments